news / politics

What is JOURNALISM ? : पत्रकारिता क्या है

पत्रकारिता एक ऐसी कला है जिसमें व्यक्ति विभिन्न माध्यमों के माध्यम से समाज के बीच संचार करते हुए सटीक और विश्वसनीय समाचारों और विवेचनात्मक विचारों का प्रसार करते हैं। यह एक प्रोफेशनल काम है जो सार्वजनिक समाचार पत्रों, टीवी, रेडियो, वेबसाइट और अन्य मीडिया आउटलेट्स में विभिन्न पदों पर किया जाता है।

पत्रकारों का काम अपने संदर्भ में रिसर्च करना, लेखन, रिपोर्टिंग, संपादन और आधुनिक माध्यमों का उपयोग करके सामान्य जनता को सटीक समाचारों और ताजगी की जानकारी प्रदान करना होता है। इसके लिए पत्रकार का विवेक, जानकारी, नैतिकता और जिम्मेदारी काफी महत्वपूर्ण होती है।

What is the basic element of journalism? : पत्रकारिता का मूल तत्व क्या है?

पत्रकारिता का मूल तत्व सत्य, स्वतंत्रता और न्याय है। एक सत्यापन करने वाले पत्रकार का उद्देश्य सत्य और विश्वसनीयता की जाँच करना होता है। पत्रकार को समाचार रिपोर्ट करते समय सत्यता का पूरा ध्यान रखना चाहिए, जो समाचार प्रसार करने के प्रमुख तत्व होते हैं।

दूसरे तत्व स्वतंत्रता होता है, जिसे पत्रकार को अपने काम में स्थिर और स्वतंत्र होना चाहिए। यह मतलब है कि पत्रकार को आत्मसम्मान के साथ अपने काम को निर्णय करने और व्यक्तिगत मतों से परे रहने की क्षमता होनी चाहिए।

तीसरा महत्वपूर्ण तत्व न्याय होता है, जिसे पत्रकार को अपने काम में उपलब्ध करना चाहिए। यह मतलब है कि पत्रकार को समाचार रिपोर्टिंग में न्यायपूर्ण होना चाहिए और समाज के सामान्य लोगों के हित में काम करना चाहिए।

इस प्रकार, सत्य, स्वतंत्रता और न्याय पत्रकारिता के मूल तत्व होते हैं, जो सच्ची और विश्वसनीय रिपोर्टिंग के लिए आवश्यक होते हैं।

What are the “5 W’s” in journalism : पत्रकारिता में “5 डब्लू” क्या है

पत्रकारिता में “5 डब्लू” निम्नलिखित होते हैं:

  1. What: यह पत्रकार का काम होता है कि वह सटीक और विश्वसनीय समाचार रिपोर्टिंग करें। उन्हें समाचार में सत्यता और विवरण का ख्याल रखना चाहिए।
  2. Why: पत्रकार को यह बताना होता है कि समाचार क्यों महत्वपूर्ण हैं, उनका उद्देश्य क्या होता है, और लोगों के जीवन में कैसे असर डालते हैं।
  3. Who: पत्रकार को यह बताना होता है कि समाचार किसे प्रभावित करते हैं, उनका पाठकों से कौन-कौन संबंधित होता है, और समाचार के पीछे के लोगों के बारे में जानकारी देना होता है।
  4. Where: पत्रकार को यह बताना होता है कि समाचार के घटनाक्रम कहां हुए हैं, उनकी स्थिति क्या है, और उनसे जुड़ी सभी जानकारी देनी होती है।
  5. How: पत्रकार को यह बताना होता है कि समाचार कैसे घटित हुए हैं, उनका प्रभाव क्या होता है, और उनके पीछे की तकनीकी जानकारी देनी होती है। इसके अलावा, पत्रकार को समाचार रिपोर्टिंग करते समय नेतृत्व, अभिव्यक्ति,

भारत में पत्रकारिता की शुरुआत ब्रिटिश शासन के दौरान हुई थी। ब्रिटिश सम्राट विलियम थार्न्टन ने 1780 में कलकत्ता में ‘हिंदुस्तानी समाचार’ के नाम से पहला समाचारपत्र प्रकाशित किया था। इसके बाद भारत भर में कई समाचारपत्र प्रकाशित किए गए और यहां के पत्रकार भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के समय अहम भूमिका निभाते रहे। भारत की स्वतंत्रता के बाद भी पत्रकारिता विकसित हुई और आज भारत में हजारों समाचारपत्र, न्यूज़ चैनल, रेडियो स्टेशन और ऑनलाइन समाचार पोर्टल हैं।

principles of journalism : पत्रकारिता के सिद्धांत

पत्रकारिता के सिद्धांत निम्नलिखित होते हैं:

  1. सटीकता (Accuracy): समाचारों को सटीकता के साथ पेश किया जाना चाहिए। एक समाचारकर्ता को अपने स्रोतों का पूरी तरह से निरीक्षण करना चाहिए ताकि उन्हें सटीक और विश्वसनीय समाचार प्रदान कर सके।
  2. निष्पक्षता (Impartiality): पत्रकार को निष्पक्ष समाचार प्रदान करना चाहिए, जिससे वे किसी भी समुदाय, नेता, राजनीतिक दल, आदि के पक्ष में नहीं होते हैं।
  3. न्यायपूर्णता (Fairness): पत्रकारों को न्यायपूर्ण संदर्भ में समाचार प्रदान करना चाहिए। वे समाचार का पूरा पक्ष बताने के साथ सामाजिक न्याय के भी पक्ष में रहते हुए समाचार प्रदान करने का प्रयास करना चाहिए।
  4. स्वतंत्रता (Independence): पत्रकारों को स्वतंत्र होकर अपने समाचार कवरेज को निर्भय रूप से प्रस्तुत करना चाहिए। वे किसी भी प्रभाव के तहत नहीं होने चाहिए।
  5. लोकतंत्र (Democracy): पत्रकारी की मूल उपलब्धि लोकतंत्र को स्थापित करना होती है। पत्रकारों को लोगों के अधिकारों की रक्षा करना चाहिए

What is the quality of journalism? : पत्रकारिता का गुण क्या है?

पत्रकारिता का गुण निम्नलिखित हैं:

  1. सत्यनिष्ठा (Truthfulness): पत्रकारों को सत्यता के साथ काम करना चाहिए। वे सटीक समाचार प्रदान करने के लिए अपनी निष्ठा के प्रति वफादार रहना चाहिए।
  2. ताकत (Power): पत्रकारों का काम समाज में शक्ति देना होता है। वे जनता के समाचार एवं जानकारी को बताकर उन्हें जागरूक बनाते हैं।
  3. सामाजिक न्याय (Social Justice): पत्रकारों को समाज की समस्याओं को उजागर करना चाहिए और उन्हें हल करने के लिए सामाजिक न्याय के साथ समाधान प्रस्ताव पेश करना चाहिए।
  4. उद्देश्य (Purpose): पत्रकारों को अपने काम के लिए उद्देश्य साबित होना चाहिए। उन्हें स्वयं का लालच और समर्थन छोड़कर एक उद्देश्य की ओर ध्यान केंद्रित करना चाहिए।
  5. संवेदनशीलता (Sensitivity): पत्रकारों को संवेदनशील होना चाहिए ताकि वे समाज की आम जनता की समस्याओं को समझ सकें और इन्हें उजागर करने के लिए उन्हें एक प्लेटफॉर्म प्रदान कर सकें।

Show More

Related Articles

Back to top button

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker